www.poetrytadka.com

Sad Shayari

Zindagi kaise beetrhi hai

zindagi kaise beetrhi hai
बहुत रोयी होगी वो खाली कागज देख कर खत में उसने पुछा था ज़िंदगी कैसी बीत रही है

Apne Mizaz

Apne Mizaz

Apne Mizaz Me Main Khoob Waqif Hun,

Thode Logon Se Milta Hun Magar Dil Kholkar

Parwaah karne wale

परवाह करनेवाले अक्सर रुला जाते है !

अपना कहकर पराया कर जाते है !

वफ़ा जितनी भी करो कोई फर्क नहीं !

मुझे मत छोड़ना कहकर खुद छोड़ जाते है !!

Poocha jo maine

Poocha jo maine

पूँछा जो मैंने उससे मुझको भुला दिया कैसे
चुटकी बजा के वो बोला- ऐसे ऐसे ऐसे !!

Sad shauari in hindi

मिल गया होगा कोई गज़ब का हमसफर !

वरना मेरा यार यूँ बदलने वाला तो ना था !!