www.poetrytadka.com



Sad Shayari in Hindi

Waqt har pal

Waqt har pal

हर ऱोज हर वक़्त हर पल बस तेरा ही तेरा ख्याल 

ना जाने मेरे कौनसे कर्ज की किश्त हो तुम !!

 

kisi ki tareef karne me

kisi ki tareef karne me

kisi ki tareef karne me jegar chahiae burai to bin a hunar ke kisi ki bhi ki ja sakti hai !!

zindagi kaise beetrhi hai

zindagi kaise beetrhi hai
बहुत रोयी होगी वो खाली कागज देख कर खत में उसने पुछा था ज़िंदगी कैसी बीत रही है

Apne Mizaz

Apne Mizaz

Apne Mizaz Me Main Khoob Waqif Hun,

Thode Logon Se Milta Hun Magar Dil Kholkar

parwaah karne wale

परवाह करनेवाले अक्सर रुला जाते है !

अपना कहकर पराया कर जाते है !

वफ़ा जितनी भी करो कोई फर्क नहीं !

मुझे मत छोड़ना कहकर खुद छोड़ जाते है !!