www.poetrytadka.com

Sad Lines

Njara yaad aata hai

बहुत लहरों को पकड़ा डूबने वाले के हाथों ने

यही बस एक दरिया का नजारा याद रहता है

मैं किस तेजी से जिन्दा हूँ मैं ये तो भूल जाता हूँ

नहीं आना है दुनिया में दोबारा याद रहता है

Itna to zindagi me

इतना तो ज़िंदगी में, न किसी की खलल पड़े

हँसने से हो सुकून, न रोने से कल पड़े

मुद्दत के बाद उसने, जो की लुत्फ़ की निगाह

जी खुश तो हो गया, मगर आँसू निकल पड़े

Bichadte waqt

bichadte waqt

बिछड़ते वक़्त मेरे ऐब गिनाये उसने,

सोचती हूँ जब मिला था तब कौन सा हुनर था मुझमें

सबसे बेस्ट शायरी Click Here