www.poetrytadka.com

Romantic Shayari

Mere Khamoosh

मेरे खामोश रहने पे कोई इलज़ाम न देना !
समंदर तो समंदर हैं... कभी बोला नहीं करते !!

Tum Agar Chaho

मुझ में बेइंतेहा मोहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं है !
तुम अगर चाहो तो मेरी सांसों की तलासी ले लो !!

Hamsafar Koi Nahin

अजब पहेलियां है हाथों की लकीरों में !
सफर ही सफर लिखा है हमसफर कोई नहीं !!

Pata Nahin

पता नही ये बादल क्यूँ भटक रहे हैं फ़िज़ा में दर-बदर !
शायद इनसे भी बात नहीं करता, इनका अपना कोई !!

Ishara Bus Dilbar

बातें हज़ारों से महफ़िल में होती है !
इशारे बस दिलबर को किये जाते हैं !!
सबसे बेस्ट शायरी Click Here