www.poetrytadka.com

Prem Shayari

Kabhi kabhi

Kabhi kabhi

प्रेम इंसान को कभी मुरझाने नहीं देता है ,

और नफरत कभी किसी को खिलने नहीं देता है !!

Prem aur aastha

Prem aur aastha

प्रेम और आस्था दोनो पर ही किसी का #जोर नही ...

ये मन जहाँ #लग जाए ...वही पर रब नजर आता है .

Kisi ko prem

Kisi ko prem

किसी को प्रेम देना सबसे बड़ा उपहार है,

और किसी का प्रेम पाना सबसे बड़ा सम्मान है !!

जैसे की आप देख रहें हैं हमारे जितेन्द्र भैया जी

पवन भैया #जी को एक साथ में...