www.poetrytadka.com



positive thoughts in hindi

tum bhi

tum bhi

आख़िर तुम भी उस आइने की तरह ही निकले !

जो भी सामने आया तुम उसी के हो गए !!

pagli tere liae

pagli tere liae

पगली तेर लिये इस दिल ने कभी बुरा नही चाहा !

ये और बात है मुझे साबित करना नहीं आया !!

kuch pabandi

kuch pabandi

कुछ पाबंदी भी लाज़मी है दिल्लगी के लिए !

किसी से इश्क़ अगर हो तो बेपनाह न हो !!

bhut khuobsorat

bhut khuobsorat

बहुत खूबसूरत निशानी एक रखी है मेरे पास तुम्हारी

मेरी किताब मैं बनाया दिल मेरा 

और उसपर चलाया हुआ तीर तुम्हारा !!

do hisso me

do hisso me

दो हिस्सों में बंट गए हैं, मेरे दिल के तमाम अरमान !

कुछ तुझे पाने निकले, तो कुछ मुझे समझाने निकले !!