www.poetrytadka.com

Poems Bucket

Last Updated

wo pagli samajhti hai

wo pagli samajhti hai

वो पगली समझती है की उसने मेरा दिल तोड़ दिया 

वो नहीं जानती वही दर्द बया करके हमने लाखो का दिल जीत लिया

@poems bucket poemsbucket