www.poetrytadka.com



💖 Mohabbat shayari

mohabbat me

mohabbat me

मुहब्बत में झुकना कोई अजीब बात नहीं,

चमकता सूरज भी तो ढल जाता है चाँद के लिए !!

Mohabbat ya yaqeen

Ab Koi Mujh Ko Dilaye Na Mohabbat Ka Yaqeen,

Jo Mujh ko Bhool Na Sakte They, Wohi Bhool Gaye…

 

Kamal Ki Mohabbat

Kamal Ki Mohabbat

कमाल की मोहब्बत थी उसको हम से

अचानक ही शुरू हुई और बिन बतायें ही ख़त्म

Andaz E Mohabbat

Andaz E Mohabbat

mohabbat karne me

mohabbat karne me

मोहब्बत करने में चंद लम्हे लगते है !

चोट खा कर भूलने में पूरी जिन्दगी लग जाती है !!