www.poetrytadka.com

Mohabbat Shayari

Mohabbat karne ki baat

मोहब्बत करने की बात हो तो किसी से भी कर लेंगे !
मगर जो मोहब्बत होने की बात है वो तो बस तुमसे है !!

Mere aankho me tum saaf nzar aate ho

अब तो शायद ही मुझ से मोहब्बत करे कोइ !
मेरी आंखो मे तुम साफ नजर आते हो !!

Uske jaisa koi gulab nahi

ख्वाबों में उनके सिवा कोई ख्वाब नहीं है !
महफिल में उनके जैसा लाजवाब नहीं है !
किताब और खिताब तो कहीं से ले लीजिए !
बागों में उनके जैसा कोई गुलाब नहीं है !!

Dil se usi ke ho jaao

जब किसी और के हो गऐ हो तो मेरे सपनों में भी मत आओ !
जिसके पास गऐ हो ये दूआ है मेरी बस दिलसे उसीके हो जाओ !!

Mohabbat karne ki baat hoo

मोहब्बत करने की बात हो तो किसी से भी कर लेंगे !
मगर जो मोहब्बत होने की बात है वो तो बस तुमसे है !!