www.poetrytadka.com

Life Quotes

Bachpan

bachpan

सुकून की बात मत कर ऐ ग़ालिब !

बचपन वाला इतवार अब नहीं आता  !!

Shuq to maa baap

shuq to maa baap

शौक तो माँ-बाप के पैसो से पूरे होते हैं !

अपने पैसो से तो बस ज़रूरतें ही पूरी हो पाती हैं !!

Ek sweera tha

ek sweera tha

एक सवेरा था जब हँस कर उठते थे हम !

और आज कई बार बिना मुस्कुराये ही शाम हो जाती है !!

Rang kho jate hai

rang kho jate hai

क्यूँ वक़्त के साथ रंगत खो जाती है  !

हँसती-खेलती ज़िन्दगी भी आम हो जाती है !!

Koi freeb nahi

koi freeb nahi

ऐसा नहीं है कि मुझमें कोई ऐब नहीं है !

पर सच कहता हूँ मुझमे कोई फरेब नहीं है !!