www.poetrytadka.com



Hindi Shayari : शायरी

kyun rota hai

kyun rota hai

ऐ दिल तू क्यों रोता है,

ये दुनिया है यहाँ ऐसा ही होता है

logo ke dilo me

बहुत भीड़ हो गई है लोगों के दिलो में.

इसलिए आजकल हम अकेले ही रहते हैं

muskan mang lo

प्यार से चाहे सारे अरमान माँग लो

रूठ कर चाहे मेरी मुस्कान माँग लो

तमन्ना ये है कि ना देना कभी धोखा

फिर हँसकर चाहे मेरी जान माँग लो

khuda ka wasta

आँखें देखती हैं तेरा रास्ता

अब तो मिलने आ जाओ हमें

तुम्हें ख़ुदा का वास्ता

shayari psand karne lge ho

शायरी पंसद करने लगे हो...!

कहीं तुमने भी मोहब्बत में, धोखा तो नहीं खा लिया