www.poetrytadka.com



Hindi Shayari : शायरी

bhool kar bhi

भूल कर बोहब्बत की जंगल में ना जाना तुम 

यहा सांप नहीं इन्सान डसते है 

koshish kar raha hoon

कोशिश कर रहा हुँ उसके बगैर जीने की

अगर जी गया तो इतिहास बन जाएगा और मर गया तो लाश

barbad kar deti hai

बरबाद कर देती है मोहब्बत हर मोहब्बत करने वाले को क्यूकि इश्क़ हार नही मानता और दिल बात नही मानता

adhura pyar

जिन्दगी मे प्यार का मतलब वही समझ सकता है जिसका प्यार अधुरा रह गया हो

Khamosh Dil

रफ़्ता-रफ़्ता बुझ गया चिराग़-ए-आरजू , 

पहले दिल ख़ामोश था अब ख़्वाहिशें ख़ामोश हैं