www.poetrytadka.com

Shayari in Hindi

Etrane lage hain log

रूबरू होने की तो छोड़िए लोग गुफ्तगू से भी कतराते है 

गुरूर ओढे है रिश्ते अपनी हैसियत पे इतराने लगे है 

Bhool kar bhi

भूल कर बोहब्बत की जंगल में ना जाना तुम 

यहा सांप नहीं इन्सान डसते है 

Koshish kar raha hoon

कोशिश कर रहा हुँ उसके बगैर जीने की

अगर जी गया तो इतिहास बन जाएगा और मर गया तो लाश

Barbad kar deti hai

बरबाद कर देती है मोहब्बत हर मोहब्बत करने वाले को क्यूकि इश्क़ हार नही मानता और दिल बात नही मानता

Adhura pyar

जिन्दगी मे प्यार का मतलब वही समझ सकता है जिसका प्यार अधुरा रह गया हो