Hindi Shayari : शायरी

maar dala mujhe shayari in hindi

मार ही डाल मुझे चश्म-ए-अदा से पहले 

अपनी मंज़िल को पहुँच जाऊं क़ज़ा से पहले

इक नज़र देख लूँ आ जाओ क़ज़ा से पहले, 

तुम से मिलने की तमन्ना है ख़ुदा से पहले

हश्र के रोज़ मैं पूछूँगा ख़ुदा से पहले, 

तू ने रोका नहीं क्यूँ मुझको ख़ता से पहले

ऐ मेरी मौत ठहर उनको ज़रा आने दे, 

ज़हर क जाम न दे मुझको दवा से पहले

हाथ पहुँचे भी न थे ज़ुल्फ़ तक "यारो", 

हथकड़ी डाल दी ज़ालिम ने ख़ता से पहले

bhool gaye hum shayari

bhool gaye hum shayari

aa dekh meri aankho ke ye bhige huae mousam

ye kisne kah diya ki bhool gaae hai hum

mera khayal shayari

मेरे दिल मैं आज ख़्याल तेरा आ ही गया

जो छुपा था तेरे लबों पर वहीं सवाल आ ही गया

रोज़ रोज़ आ जाती हों तुम मेरे ख्वाबों मैं

आज दिन मैं तेरा जवाब आ ही गया

रात कटती हैं रोज़ तेरी यादों मैं

आज मेरी निगाहों मैं तेरा ख्वाब आ ही गया

दर्द तन्हाई का मुझसे खफा खफा रहता हैं

आज तेरे घर से जख्मों का मरहम आ ही गया

तू कोई गैर नहीं थी मेरे लिए

तेरे दिल भी आज मेरी दहलीज पर आ ही गया

jga diya teri pawjeb ne

सुला चुकी थी ये दुनिया ,

थपक-थपक के मुझे , 

जगा दिया तेरी पाजेब ने ,

छनक के मुझे , 

कोई बताये की मै इसका 

क्या इलाज करून , 

परेशां करता है ये दिल , 

धड़क-धड़क के मुझे

shayari शायरी shayari in hindi

shayari shayari

shayari, hindi shayari, हिंदी शायरी, शायरी, हिन्दी शायरी 

dil ko kabu

धडकनों को कुछ तो काबू में कर ऐ दिल 

अभी तो पलके झुकाई है मुश्कुराना बाकि है 

ye saal bhi aakhir beet gaya

कोई हार गया कोई जीत गया, 

ये साल भी आखिर बीत गया

dil tod diya ye kah ke

dil tod diya ye kah ke

किसी ने आज ये कहके दिल तोड़ दिया 

की लोग तेरे नहीं तेरे शायरी के दीवाने है 

whi mujhko akele

वही मुझको अकेला कर गयी, 

जो कभी दुआओ में मांगती थी

soya huaa hai

सोया हुआ है मुझमें कोई शख्स आज रात 

लगता है अपने जिस्म से बाहर खड़ा हूँ मैं.