www.poetrytadka.com

Kavita

Now you are at Hindi Kavita Kosh collection page. And  you can read Hindi diwas par Kavita, desh bhakti Kavita, hasya Kavita, maa par Kavita, Hindi mein Kavita, Jhansi ki rani Kavita, sadak suraksha par Kavita, कविता हिंदी में लिखी हुई, 8 लाइन की हिंदी कविता, Best Hindi Kavita and my more Kavita in Hindi at poetry tadka. कविता वह स्थान है जहाँ लोग अपने मूल मानव मन की बात कह सकते हैं। यह लोगों के लिए सार्वजनिक रूप से कहने का आउटलेट है जिसे निजी में जाना जाता है।

Love kavita in Hindi

Love kavita in Hindi

I want my love for my love like 1990.
Text, away from call.
I want to be on letters.
Leave this babu Shona.
I want to call her girlfriend.
When we met suddenly.
So want to see his happiness.
When the drying clothes came on the roof.
So want to get stolen.
Who is afraid of the arrival of father and brother.
I want such a love, yes.
I still want old fashioned love.

Category : Kavita

Hindi Kavita on Life

Hindi Kavita on Life

Flowers or thorns,
Don't leave your path.
No matter what calamities come,
Don't turn your face.
Stay together or stay together
Dare but don't give up.
Don't ask for grace,
Don't be humble, add you.
Just trust in God
Let's read the text of love.
As long as there is life in the body,
Till then let's go ahead.

Category : Kavita

Hindi Kavita Kosh on Love

Hindi Kavita Kosh on Love

What do you know,
I wait for you
how every moment
have survived.
Not once or twice
thousands of times a day,
looked at you picture.

Category : Kavita

Kavita 2022.

Short maa par kavita in Hindi

Short maa par kavita in Hindi

जरा सी चोट लगे तो आंसू बहा देती है 
सुकून भरी गोद में हमको सुला देती है 
हम करते हैं खता तो चुटकी में भुला देती है 
होते हैं खफा हम तो दुनिया को भुला देती है 
मत गुस्ताखी करना उस माँ से जैद 
जो अपने बच्चों की चाह में अपने आप को भुला देती है 

Category : Kavita

Sath dena hai to

~~~~~साथ देना तो था~~~~~
थामने हम बढे, हाथ देना तो था
तुम मेरे हो,मेरा साथ देना तो था
हौसलों पर मेरे, यूँ गिरी ग़ाज़ क्यों
गीत गुमसुम रहे,खोये अलफ़ाज़ क्यों
साधने हम चले, आस देना तो था
तुम मेरे हो, मेरा साथ देना तो था
कोई राहत नहीं, कोई चाहत नहीं
है कहाँ वो ख़ुशी,कोई आहट नहीं
बेबसी को मेरी, मात देना तो था
तुम मेरे हो, मेरा साथ देना तो था
ख़ाब खो जाएंगे, ये तो सोचा न था
किस तरह ये कहें, दर्द होता न था
सूनी आँखें रहीं, ख़ाब देना तो था
तुम मेरे हो, मेरा साथ देना तो था
थामने हम बढे, हाथ देना तो था
तुम मेरे हो,मेरा साथ देना तो था

Category : Kavita