www.poetrytadka.com

Judai Shayari

Last Updated

juda hokar bhi

juda hokar bhi

जुदा होकर भी जुदाई नहीं होती इश्क

उम्र कैद है प्यारे इसमें रिहाई नहीं होती

judai ka sikwa kisse karoo

judai ka sikwa kisse karoo

तेरी जुदाई का शिकवा करूँ भी तो किससे करूँ,

यहाँ तो हर कोई अब भी, मुझे, तेरा समझता हैं

zindagi aap bin

zindagi aap bin

जिन्दगी आप बिन ऊलझन सी लगती है..

एक पल की जुदाई मुदत सी लगती है..

पहले तो ऐहसास था पर अब यकीन है..

हर लम्हा आपकी जरूरत सी लगती है..

kisi ko mohabbat me judai na mile

kisi ko mohabbat me judai na mile

किसी को मोहब्बत में जुदाई न मिले

किसी को मोहब्बत में जुदाई न मिले

और जो पोस्ट को लाइक ना करे

.उसे कड़कड़ाती ठंड में रजाई ना मिले.

bewafa waqt tha

bewafa waqt tha

बेवफा वक़्त था.तुम थे.या मुकद्दर था मेरा

बात इतनी ही है की अंजाम जुदाई निकला