www.poetrytadka.com

jazbaat shayari

Last Updated

tere khazane me

tere khazane me

ना कर मुहताज किसी का मुझे जमाने में 

कमी है कोन सी यारब तेरे खजाने में 

yun wfa ke silsile

yun wfa ke silsile

यूँ वफा के सिलसले हमेशा ना रख किसी से 

लोग एक खता के बदले सारी वफाए भूल जाते है 

jo log dar

jo log dar

जो लोग दर्द महसूस करते है वो कभी भी दुसरो की दर्द की वज़ह नहीं बनते 

mulakat mukammal nahi

mulakat mukammal nahi

मुलाकात मुकम्मल नहीं अहसास है लेकिन 

तुम्हे याद करते है बस इतना याद रखना तुम

shayari world jazbaat shayari

shayari world jazbaat shayari

कुछ तो बात है तेरी फितरत में वरना 

वरना तुझे चाहने की खता बार बार नहीं करते