www.poetrytadka.com

जान शायरी

Last Updated

suno jaan

सुनो जान 💕जल्द ही शुरू होगा हमारे प्यार का पंचनामा
महोब्बत की फ़रवरी आ गई

wo pagli bhut yaad aati hai

वो पगली बहुत याद आती है

उसे पता है मुझसे इंतजार होता नहीं
फिर भी इंतजार करवाती है
उसे पता है तन्हाई मुझे अच्छी नहीं लगती
फिर भी छोड के वो मुझे चली जाती है
उसे पता है की वो मेरे जिस्म-ओ-जान मे बसती है
फिर भी वो मुझे हर बार भूल जाती है
उसे पता है मुझे सिर्फ उस से ही मोहब्बत है
फिर भी वो मुझे हर पल सताती है
जब जब उसे भूलने की कोशिश की
तब तब वो बहोत याद आती है
कभी गुस्सा तो कभी बहोत प्यार मुझपर लूटाती है
वो पगली मुझे इस तरहा से तडपाती है
कहती है हम सिर्फ दोस्त हैं
फिर क्यूँ अपनी मोहब्बत हर बार वो जताती है
इजहार-ए-मोहब्बत में वो हर बार इंकार वो करती है
फिर भी वो मुझे बहोत चाहती है
अपना हर सूख-दुख वो मुझसे बाँट लेती है
कभी दिल दुखे उसका तो मुझसे लिपट के रो लेती है
वो पगली मुझे बहोत याद आती है