www.poetrytadka.com

Friendship Shayari

Last Updated

tute dil ko sbhalne ki aas kya rakhiye

टूटे दिल को, संभलने की आस क्या रखिये !
कितना खोया ज़िंदगी में हिसाब क्या रखिये !
अगर बांटनी है तो खुशियाँ बांटो दोस्तों से !
अपने अज़ाब अपने हैं,सब को उदास क्या रखिये !!

jab dil chahe mang lena

दावे दोस्ती के मुझे नहीं आते यारो !
एक जान है जब दिल चाहें मांग लेना !!

wo bachpan ke din kya khoob the

वो बचपन के दिन भी क्या खूब थे !
ना दोस्ती का मतलब पता था ना मतलब की दोस्ती थी !!

tera mera naam likha tha

तेरा मेरा नाम लिखा था जिन पर हमने बचपन में !
उन पेड़ों से आज भी तेरे हाथों की खुश़बू आती है !!

rishte tod dena

रिश्ते तोड़ देना हमारी फितरत मे नही !
हम तो बदनाम हैं रिश्ते निभाने के लिए !!