www.poetrytadka.com

Ehsaas Shayari

Itni mohabbat

itni mohabbat
ना जाने इतनी मुहब्बत कहां से आई है तेरे लिये
कि मेरा दिल भी तेरी खातिर मुझसे रूठ जाता है.

Hum gustakh log

hum gustakh log
अपने हसीन होठो 💋को किसी परदे में छुपा लिया करो
हम गुस्ताख़ लोग हे, नजरो से चुम लिया करते हे

Sikayat na kiya karo

sikayat na kiya karo
हर बार शिकायत ना किया करो.. 🍁🍁
कभी तो मुस्कुराहट😊 से मिला करो 💞

Main sabse door

मैं सबसे दूर होना चाहता हूं... मुझे अपनी जरुरत पड़ गयी है .

Mian khud sa hun

मैं खुद सा ही हूँ और ऐसा ही रहूंगा... ना साया और ना ही आईना तुम्हारा...
सबसे बेस्ट शायरी Click Here