www.poetrytadka.com



Dil shayari

Dil se roye magar

दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे,

यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे,

वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का,

और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बेठे...

 

zindagi bhar

zindagi bhar

हाथों की लकीरों मैं तुम हो ना हो

जिदंगी भर दिल में जरूर रहोगी !!

batein dil ki

छुपी होती है लफ्जों में बातें दिल की !

लोग शायरी समझ के बस मुस्कुरा देते हैं !!

toota dil shayari

ऐसा क्या "लिखूँ " की तेरे "दिल" को "तस्सली" हो जाए !

क्या ये बताना "काफी" नही की मेरी ज़िन्दगी  हो  तुम !!

dil ki khmooshi par mat

दिल की ख़ामोशी पर मत जाईये ग़ालिब !

राख की नीचे अक्सर आग दबी होती है !!