www.poetrytadka.com

Bewafa Shayari

Unhe humne bewfa dekha

unhe humne bewfa dekha

मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा 

जिन्हे दावा था वफा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा 

Jawal ka jawab

Jawal ka jawab

हमारे हर सवाल का सिर्फ एक ही जवाब आया,

पैगाम जो पहूँचा हम तक बेवफा इल्जाम आया।

Tum bewafa

Tum bewafa

तुम समझ लेना बेवफा मुझको, मै तुम्हे मगरूर मान लूँगा

ये वजह अच्छी होगी , एक दूसरे को भूल जाने के लिये

 

Jis kisi ko chaho

Jis kisi ko chaho

जिस किसीको भी चाहो वोह बेवफा हो जाता है,
सर अगर झुकाओ तो सनम खुदा हो जाता है,
जब तक काम आते रहो हमसफ़र कहलाते रहो,
काम निकल जाने पर हमसफ़र कोई दूसरा हो जाता है…

Bhut toot kar chaha

bhut toot kar chaha

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,

कभी याद आ कर उनकी जुदाई मार गयी,

बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,

आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी