www.poetrytadka.com

Best Shayari

Naa jane konsi mulakat aakhri hogi

naa jane konsi mulakat aakhri hogi

ज़िन्दगी में ना ज़ाने कौनसी बात "आख़री" होगी !
ना ज़ाने कौनसी रात🌌 "आख़री" होगी !
मिलते, जुलते, बातें करते रहो यार एक दूसरे से !
ना जाने कौनसी "मुलाक़ात" आख़री होगी !!

Hum to bas itna jante hai

hum to bas itna jante hai

कौन किस से चाहकर दूर होता है !
हर कोई अपने हालातों से मजबूर होता है !
हम तो बस इतना जानते हैं !
हर रिश्ता "मोती" औरहर दोस्त "कोहिनूर" होता है !!

Pani se tasweer kha banti hai

pani se tasweer kha banti hai

पानी से तस्वीर कहाँ बनती है !
ख्वाबों से तकदीरकहाँ बनती है !
किसी भी रिश्ते को सच्चे दिल से निभाओ !
ये जिंदगी फिर वापस कहाँ मिलती है !!

Tujhse dooriya chun li maine

खुद के लिए इक सज़ा, मुकर्रर कर ली मैंने !
तेरी खुशियो की खातिर, तुझसे दूरियां चुन ली मैंने !!

Ksoor itna tha ki beksoor the hum

ksoor itna tha ki beksoor the hum

जीना चाहा तो जिंदगी से दूर थे हम !
मरना चाहा तो जीने को मजबूर थे हम !
सर झुका कर कबूल कर ली हर सजा!
बस कसूर इतना था कि बेकसूर थे हम !!