www.poetrytadka.com



Beautiful Shayari in Hindi

intezaar karte hai

intezaar karte hai

लफ्ज़ ख़त्म हो गए अब इस रात के

चलो सुबह होने का इंतज़ार करते हैं

aadat nahi hai

aadat nahi hai

आदत नही है मुझे कुछ भी छीन लेने की

जो मिला नही प्यार से, पाने की कोशिश ही छोड़ दी।

rulane ke baad

rulane ke baad

पूछ रहे हैं वो मेरा हाल, जी भर रुलाने के बाद!

के बहारें आयीं भी तो कब? दरख़्त जल जाने के बाद!

dil se apnaya

dil se apnaya

दिल से अपनाया न उसने..ग़ैर भी समझा नहीं..

ये भी एक रिश्ता है..जिसमें कोई भी रिश्ता नहीं.

aaj kal

aaj kal

आजकल नाराज़ है जरा मेरा मन मुझसे

वरना ज़माने से गिला तो ना कल था ना अब है