www.poetrytadka.com



Achi Soch Shayri

sakaratmak soch in hindi

sakaratmak soch in hindi
कुछ सीखने के लिये पीछे मुड कर देखो
जिन्दगी जीने के लिये सामने देखो
आगे बढ जाओ ठहरा हुआ पानी बदबू फैलाता है
रूका हुआ इंसान खत्म हो जाता है

kuchh seekhane ke liye peechhe mud kar dekho
zindagi jeene ke liye saamane dekho
aage badh jao thahara hua paanee badaboo phailaata hai
rooka hua insaan khatm ho jaata hai

ek achi soch

ek achi soch
बुलंदी की उडान पर हो तो जरा सब्र रखो
परिंदे बताते हैं कि आसमान में ठिकाने नही होते

bulandee ki udaan par ho to jara sabr rakho
parinde bataate hain ki aasamaan mein thikaane nahi hote

achi shayari in hindi

achi shayari in hindi
कैसे कह दूँ कि थक गया हूँ मैं
न जाने किस किस का हौसला हूं मैं

kaise kah doon ki thak gaya hoon main
na jaane kis kis ka hausala hoon main

achi soch shayri

achi soch shayri
तू मत देख कोई शख्स गुनाहगार है कितना
बस यह देख, तेरे साथ वफादार है कितना

ek muskan de

बुराई करने वाले को सम्मान दें,

लाचार को ही दान दें,

बहुत सुकून मिलेगा, 

चल किसी रोते को इक मुस्कान दें