www.poetrytadka.com

अच्छी शायरी

शायरी अच्छी वाली | कुछ अच्छी शायरी | अच्छी अच्छी शायरी | achi shayari hindi me | achi shayari | achi soch shayri | अच्छी शायरी



gum hai yaro

उंगलिया आज भी इस सोच में गूम है यारो

उसने  कैसे नये हाथ को थामा होगा 

gum hai yaro

samjha nahi mujhko

अगर तुझसे इश्क न होता तो कोई बात न होती 

शिकायत सिर्फ इतनी है की तूने समझा नहीं मुझको 

samjha nahi mujhko

aaj mane ke baad

तुम्हे ये शक है की तेरे लिए जान ना दे पाऊंगा 

मुझे ये दर है की तो रोए गी मुझे आजमाने के बाद 

aaj mane ke baad

hum bewafa nahi

इतना भी हमसे नाराज़ मत हुआ करो 

बद किस्मत जरूर हूँ मगर बेवफा नहीं 

hum bewafa nahi

ajeeb silsila

बहुत अजीब सिलसिले है इस मोहब्बत और इश्क के 

कोई वफा के लिए रोया कोई वफा करके रोया

ajeeb silsila

hum dua karenge

तूने मुझे छोड दिया कोई बात नही पर...

हम दुआ करेगे कि...

कोई तुझे ना छोडे किसी और के लिये

hum dua karenge

meri mohabbat hai wo

मेरी मोहब्बत है वो कोई मज़बूरी तो नही, 

वो मुझे चाहे या मिल जाये, जरूरी तो नही, 

ये कुछ कम है कि बसा है मेरी साँसों में वो, 

सामने हो मेरी आँखों के जरूरी तो नही 

meri chahat ko

मेरी चाहत को मेरी हालत की तराजू में ना तोल, 

मैंने वो ज़ख्म भी खाऐं हैं, जो मेरी किसमत में नहीं थे

meri chahat ko

kaisa hunar aata hai

जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है, 

रात होती है तो आँखों में उतर आता है, 

मैं उस के खयालो से बच के कहाँ जाऊं, 

वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है

kaisa hunar aata hai

mere gham me

मेरे ग़म ने होश उनके भी खो दिए... 

वो समझाते समझाते खुद ही रो दिए

mere gham me