नजर पर शायरी

Monday 17th of February 2020
nazar par shayari, aankho pe shayari, निगाहें शायरी, नजरें शायरी

Bahut khaas the kabhi nazro mai

Bahut khaas the kabhi nazro mai kisi ke hum bhi,

Magar nazro ke takaze badalne main der kaha lagti hai.

 

Na Jane Ye Najre Kyu

Na Jane Ye Najre Kyu Udas Rehti Hai, 

Na Jane Ise Kiski Talash Rehti Hai, 

Ye Jankar Bhi Ki Wo Kismat Me Nahi Hai, 

Fir Bhi kyu Unhe Pane Ki Aas Rehti Hai.

 

Dard Shayari

दर्द मुझको ढूँढ लेता है रोज नए बहाने से !

वो हो गया है वाकिफ मेरे हर ठिकाने से !!

Bemishal Toota hun

कोशिश भी मत करना, मुझे संभालने की अब तुम !

बेहिसाब टूटा हुं, जी भर के बिखर जाने दो मुझे !!

Tera koi kasoor nahi

Tera koi kasoor nahi jo tune mujhe dhokha diya

Kasoor toh humara tha jo humne tumhe moka diya

uski tarah

भूले नहीं उसे और भूलेगें भी नहीं !

बस नज़र अंदाज करेंगे उसे उसी की तरह !!

 

maloom to hme bhi hai

सुकून ऐ दिल के लिए कभी हाल तो पूँछ ही लिया करो !

मालूम तो हमें भी है कि हम आपके कुछ नहींलगते !!

apne dard ko

किन लफ्ज़ो में बयां करूँ, अपने दर्द को !

सुनने वाले तो बहुत है,पर समझने वाला कोई नहीं !!

zism uska bhi mitti ka hai

जिस्म उसका भी मिट्टी का है, मेरी तरह ए खुदा !

फिर क्यू सिर्फ मेरा ही दिल तडफता है उस के लिये !!

Dil ka Dard hindi shayari

Zara Si Zindagi Hai Arman Bahut Hain

Humdard Nahi Koi Insan Bahut Hain

Dil Ka Dard Sunaye To Sunaye Kisko

Jo Dil Ke Kareeb Hai Wo Anjan Bahut Hain !!

Dil ka Dard hindi shayari