www.poetrytadka.com

Two Line Shayari

Kosish to hoti hai

कोशिश तो होती है कि तेरी हर ख्वाहिश पूरी करूँ !
पर डर लगता है के तु.ख्वाहिश में मुझसे जुदाई ना माँग ले !!

Yu to hum apne aap me gum the

यूँ तो हम अपने आप में गुम थे !
सच तो ये है की वहाँ भी तुम थे !!

Tum ye mat samajhna

तुम ये मत समझना की मुझे कोई नहीं चाहता !
तुम छोड़ भी दोगे तो..मौत खड़ी है अपनाने के लिए !!

Koi apna rooth naa jaae

कई बार गलती के बिना गलती मान लेते है हम !
क्यूकी डर लगता है कोई अपना रूठ ना जाए !!

Karlo hisab apne hisab se

तु कर ले हिसाब अपने हिसाब से.लेकीन !
उपर वाला लेगा हिसाब अपने हिसाब से !!
सबसे बेस्ट शायरी Click Here