subah hui to bujha diya

subah hui to bujha diya

उन्होनें भी हमें बस एक दिए की तरह समझा

रात गहरी हुयी तो जला दिया सुबह हुयी तो बुझा दिया

Read More सुप्रभात शायरी
Share via Whatsapp