www.poetrytadka.com

Shayari on moon in Hindi

रात भर आसमां में हम चाँद ढूढ़ते रहे,
चाँद चुपके से मेरे आँगन में उतर आया।
Raat bhar aasma me hum chnad dhoodhte rahe
chand chupke se mere aangan me utra aaya.

चाँद मत मांग मेरे चाँद जमीं पर रहकर, 
खुद को पहचान मेरी जान खुदी में रहकर.
Chand mat mang mere chand jamin par rahkar
khud ko pahchan meri jaan khudi me rahkar.

ये चांद मेरे जागने की वजह न पूछ 
तेरा ही हमशक्ल है जो सोने नहीं देता।
Ye chand mere jagne ki wajah na pooch
tera he hamshakal hai jo sone nahin deta.

Shayari on moon in Hindi