pyar tabtak life shayari

pyar tabtak

प्यार तब तक रहता है जब तक की वजूद और मौजूद की बात हो
नहीं तो जरुरी और मज़बूरी रस्ते ही बदल देते है

kabhi milne aur milane ka taiwaar to aaye
mujhe bus ab ye judai bardasth nahi hoti
कभी मिलने और मिलाने का तेवर तो आये
मुझे बस अब ये जुदाई बर्दास्त नहीं होती

phir kisi par nahi uthi wo aankhen
jin ki aanhko main fanaa hoti hai muhabbat
फिर किसी पर नहीं उठी वो आँखें
जिन की आन्ह्को मैं फना होती है मुहब्बत

कृपया शेयर जरूर करें

Read More