www.poetrytadka.com

Sad Status Punjabi

ਉਮਰ ਤਾਂ ਹਾਲੇ ਕੁਝ ਵੀ ਨਹੀ ਹੋਈ, 
ਪਤਾ ਨੀ ਕਿਉ ਜਿੰਦਗੀ ਤੋਂ ਮਨ ਭਰ ਗਿਆ..!!

ਕੀ ਤੂੰ ਛਡਿਆ ਮੈਨੂੰ ਮੈਂ ਤਾਂ
ਜੀਨ ਦੀ ਆਸ ਹੀ ਛੱਡ ਤੀ ਆ.

ਜਿਹੜਾ ਰੁੱਸੇ ਨੂੰ ਨਾ ਮਨਾਵੇਂ ਉਹ ਯਾਰ 
ਵੀ ਕਿ ਕਰਨਾ ਜਿੱਥੇ ਕੋਈ ਦਿਲ ਦੀ 
feeling ਨਾ ਸਮਝੇ ਉੱਥੇ ਪਿਆਰ ਵੀ 
ਕਿ ਕਰਨਾ........miss u

Sad Status Punjabi

Shayari Desh Bhakti

बस ये बात हवाओं को बताये रखना
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना.
Bas ye baat hawaon ko bataye rakhna
roshni hogi chiragon ko jalaye rakhna
lahoo dekar jiski hifazat ki shaheedon ne
us tirange ko sada dil me basaye rakhna.

तिरंगा है आन मेरी
तिरंगा ही है शान मेरी
तिरंगा रहे सदा ऊँचा हमारा 
तिरंगे से है धरती महान मेरी ।
Tiranga hai aan meri
tiranga he hai shaan meri
tiringa rahe sada oonch hamara
tirange se hai dharti mahan meri.

Shayari Desh Bhakti

Husn Shayari in Hindi

तेरी सादगी का हुस्न मी लाजवाब है
मुझे नाज है के तू मेरा इंतेखाब है.
Teri sadgi ka husn bhi lajawab hai
mujhey naaz hai ki too mera intekhab hai.

क्या पूछते हो हमसे  हुस्न की तारीफ़ 
हमें जिस से मोहब्बत हुई, वो ही सबसे हसीं
Kya poochhte ho humse husn ki tareef
hamen jis se mohabbat hui wo sabse hansi.

Husn Shayari in Hindi

Family Rishte Shayari

पहले घर कच्चे, और रिश्ते पक्के हुवा करते थे, 
अब घर पक्के और रिश्ते कच्चे हो गए हैं!
Pahle ghar kachche aur rishte pakke hua karte the.
Ab ghar pakke aur rishte kachche ho gaye hain.

दुनिया में सबसे बड़ी जीत 
परिवार के साथ जुड़े रहना.
Duniya ki sabse badi jeet 
parivar ke sath jude rahna.

Family Rishte Shayari

Chai Par Shayari

मोहब्बत करना चाय से सीखे है 
कैसी भी हो खुश होकर पीते है
Mohabbat karna chai se seekhe hain
kaisi bhi ho khush hokar peete hain.

तेरे दिए जख्म साथ है, 
किसने कहा हम अकेले चाय पीते है.
Tere diye jakhm sath hain,
kisne kaha hum akele chai peete hain.

Chai Par Shayari

shayari on moon in Hindi

रात भर आसमां में हम चाँद ढूढ़ते रहे,
चाँद चुपके से मेरे आँगन में उतर आया।
Raat bhar aasma me hum chnad dhoodhte rahe
chand chupke se mere aangan me utra aaya.

चाँद मत मांग मेरे चाँद जमीं पर रहकर, 
खुद को पहचान मेरी जान खुदी में रहकर.
Chand mat mang mere chand jamin par rahkar
khud ko pahchan meri jaan khudi me rahkar.

ये चांद मेरे जागने की वजह न पूछ 
तेरा ही हमशक्ल है जो सोने नहीं देता।
Ye chand mere jagne ki wajah na pooch
tera he hamshakal hai jo sone nahin deta.

shayari on moon in Hindi