www.poetrytadka.com

Meri tanhai bhi

तू कहाँ है कि तेरी याद के हाथों अबतो है
मेरे परेशां मेरी तन्हाई भी !!