www.poetrytadka.com

mera khayal shayari

मेरे दिल मैं आज ख़्याल तेरा आ ही गया

जो छुपा था तेरे लबों पर वहीं सवाल आ ही गया

रोज़ रोज़ आ जाती हों तुम मेरे ख्वाबों मैं

आज दिन मैं तेरा जवाब आ ही गया

रात कटती हैं रोज़ तेरी यादों मैं

आज मेरी निगाहों मैं तेरा ख्वाब आ ही गया

दर्द तन्हाई का मुझसे खफा खफा रहता हैं

आज तेरे घर से जख्मों का मरहम आ ही गया

तू कोई गैर नहीं थी मेरे लिए

तेरे दिल भी आज मेरी दहलीज पर आ ही गया