www.poetrytadka.com

kabhi matlab ke liae

कभी मतलब के लिए तो कभी बस दिल्लगी के लिए !
हर कोई मोहाब्बत ढूँढ़ रहा है यहाँ अपनी तन्हा सी ज़िन्दगी के लिए !!