www.poetrytadka.com

Jis kisi ko chaho

जिस किसीको भी चाहो वोह बेवफा हो जाता है,
सर अगर झुकाओ तो सनम खुदा हो जाता है,
जब तक काम आते रहो हमसफ़र कहलाते रहो,
काम निकल जाने पर हमसफ़र कोई दूसरा हो जाता है…

Jis kisi ko chaho
सबसे बेस्ट शायरी Click Here