www.poetrytadka.com

Itna yaad na aaya karo

इतना याद न आया करो, कि रात भर सो न सकें !

सुबह को सुर्ख आँखों का सबब पूछते हैं लोग !!