hum pyar unhi se karte hai

hum pyar unhi se karte hai shayari

होंगे वो कोई और जिनको क़दर नहीं मोहब्बत की
हम जिन्हें चाहते हैं , ज़िन्दगी बना लेते हैं
honge vo koee aur jinako qadar nahin mohabbat kee
ham jinhen chaahate hain , zindagee bana lete hain

शिद्दत से कोई याद करता है
मुद्दत से ये वहम नहीं जाता
shiddat se koee yaad karata hai
muddat se ye vaham nahin jaata