www.poetrytadka.com

hum koi tum the jo tum se sikayat karte

हम ने हर दुःख दर्द को मोहब्बत समझा!
हम कोई तुम थे जो तुम से सिकायत करते !!