www.poetrytadka.com

GN Shayari in Hindi

इस गहरी रात में उनकी याद का झोंका फिर आ गया, 
हैं खुशनसीब हम बहुत कि ख्वाबों में 
उनसे मिलने का मौका फिर आ गया.
Is gahri raat me unki yaad ka jhonka fir aa gaya.
Hain khusnaseeb ham bahut ki khawabon me
unse milne ka mauka fir aa gaya.

कब दोगे निजात हमें रात भर की तन्हाई से,
ए इश्क़ माफ़ कर मेरी उम्र हे क्या है।
kab doge nijaat hamen raat bhar kee tanhaee se.
e ishq maaf kar meree umr he kya hai. 

रात इकाई नींद दहाई,
ख्वाब सैकड़ा दर्द हज़ार।
raat ikaee neend dahaee.
khvaab saikada dard hazaar.

GN Shayari in Hindi