www.poetrytadka.com

Gham afsos hindi shayari

रखते थे होठों पे उंगलियां जो मरने के नाम से
अफसोस वही लोग मेरे दिल के कातिल निकले