www.poetrytadka.com

dil ka haal

पुछा ना जिन्दगी मे किसी ने भी दिल का हाल !
अब शहर भर मे जीक्र मेरी खुदकुशी का है !!