dil chu jane wali shayari in hindi

dil chu jane wali shayari in hindi

मेरी वफ़ा की कदर ना की
अपनी पसंद पे तो ऐतबार किया होता
सुना है वो उसकी भी ना हुई,
मुझे छोड दिया था उसे तो अपना लिया होता

मुख्य पेज पर वापस जाए