www.poetrytadka.com

Dekh Pagle

देख पगले.तेरा Ego दो दिन की कहानी है !
पर मेरी अकड़ खानदानी है !!