www.poetrytadka.com

chal dost kisi anzan basti me chale

चल दोस्त किसी अन्जान बस्ती में चले !
इस नगर में तो सभी हम से खफा रहते है !!