www.poetrytadka.com

Chanakya Niti

2022-07-29 16:15:14

संसार में न कोई तुम्हारा मित्र है न शत्रु तुम्हारा

अपना विचार ही इसके लिए उत्तरदायी है !!

Sansar me

भगवान मूर्तियों में नहीं है आपकी अनुभूति आपका ईश्वर है आत्मा आपका मंदिर है !!

Bhagwaan murtiyo me nahi

हमें भूत के बारे में पछतावा नहीं करना चाहिए !

ना ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए !

विवेकवान व्यक्ति हमेशा वर्तमान में जीते हैं !!

Hme bhoot ke bare me

परिश्रम वह चाबी है जो किस्मत का दरवाजा खोल देती है !!

Mehnat wo chabhi hai

एक बार काम शुरू कर लें तो असफलता का डर नहीं रखें और न ही काम को छोड़ें निष्ठा से काम करने वाले ही सबसे सुखी हैं !!

Asfalta se na dare