apni mohabbat ko

mohabbat shayari apni mohabbat ko

चलो आज खामोश प्यार को एक नाम दे दे 

अपनी मोहब्बत को एक प्यारा इंजाम देदे 

इससे पहले की कही रूठ ना जाए मौसम 

अपने धडकते हुए अरमानों को सुरमई शाम दे दे 

Read More