www.poetrytadka.com

Apna khata

Last Updated

हो जुदाई का सबब कुछ भी मगर, 

हम उसे अपनी खता कहते हैं, 

वो तो साँसों में बसी है मेरे, 

जाने क्यों लोग मुझसे जुदा कहते हैं

apna khata