(success)

Users Feeds

सारथि

ना राहे रही ना मंजिल रही।
हालात भी है कुछ इस कदर।।
अपनों ने ही लूटी सारथि ज़िन्दगी ।
गुंजाईश कहाँ अब गैरो की......
न इधर न उधर।।

1 week 5 Days ago
by Rajneesh Bhardwaj

सारथि

मोहब्बत के पन्ने
जो पलटे थे 
किसी के साथ कभी।
आज कल 
पलट के सारथि वो
देखते भी नही कभी।।

3 week 2 Days ago
by Rajneesh Bhardwaj

Gow

Load it

4 week 2 Days ago
by raxit singh
hal wahi puraana hai bas tumse baat nahi hoti 1 urdu shayri

Hal wahi puraana hai bas tumse baat nahi hoti

https://m.facebook.com/poetrybyrajatbansal/

 

हाल वही पुराना है बस तुमसे बात नही होती 

दिन क्युँ नही कटता क्युँ तुझ बिन रात नही होती 

याद तो तुम्हे भी आती होगी वो रातो की बेकारी सी बाते 

बाते तो होती है अब लेकिन तुम साथ नही होती 

 

होती है एक चाह तुझे पास बुलाने की

कोने में छुपी बाते तुझको बतलाने की

 

वो देर तक बैठे पहाड़ो में आज भी शाम होती है

मेरी सारी हरकत आज भी सरेआम होती है

बेकारी सी लगती है सारी हरकते अब

 

मौसम की पहली बारिश अब ख़ास नहीं होती

हाल वही पुराना है बस तुमसे बात नहीं होती

1 Months
by rajat bansal

सारथि

बस तेरे एक वादा पे 
इंतेजार में बैठा हूँ।
जो राज पता है सबको सारथि
उसे दिल में दफन किये बैठा हूँ।।

1 Months
by Rajneesh Bhardwaj

7544841704

1 Months
by nitish kumar

ijhar

Jb unhone ijhar kiya

Hal e dil ye tha....

Unka hr lfj katil tha....

Jo hmne khwabo me dekha

Usse bi bdkr ishq shamil...

Lokesh?

Usse bi bdkr ish

1 Months
by lokesh kumar

ijhar

1 Months
by lokesh kumar

सारथि

ए नादाँ......

आज भी कुछ इस अंदाज में ।

उल्फत.....के रास्ते जो तेरी गली से गुजरे।।

सारथि जो भी.....अरमान निकले ।

करने को तुझे मोहब्बत.....बेहिसाब निकले।।

 

1 Months
by Rajneesh Bhardwaj

सारथि

आरजू पे तुम्हारी......
खुद जला दिए......
हसरतो के शामियाने......
बड़ी ख़ुद्दारि से।
सारथि से
मोहब्बत न तो न सही......
मगर नफरत तो करो वफादारी से।

2 week 3 Days ago
by Rajneesh Bhardwaj

सारथि

चल फिर मोहब्बत में एक नया करार करे।
जब मिलती हो एक मुश्त.....
तो दर्द किस्तो में क्यों भरे।।
ये कौन सा इंसाफ है तेरा।
मुजरिम है सारथि 
दिल की नादानी....
सजा आँखे को मिले।।

3 week 5 Days ago
by Rajneesh Bhardwaj
loading...
marij e isqu urdu shayri

Marij-e-isqu

Mera Dil Isqu Ka Marij H... Dosto.. Na Dava Kam Ayi Na Dua Kam Ayegi...

1 Months
by Sushill Sonteke
hal wahi puraana hai bas tumse baat nahi hoti urdu shayri

Hal wahi puraana hai bas tumse baat nahi hoti

https://m.facebook.com/poetrybyrajatbansal/

1 Months
by rajat bansal

gulab

1 Months
by sunny koli

सारथि

न कहते कुछ....
न करते कभी शिकायते....
खुद से
गर खंजर भी घोप देते वो ।
'सारथि'
हम भी हो जाते
किसी और के
जाने से पहले जो
हमको भी हमें सौप जाते वो।।

1 Months
by Rajneesh Bhardwaj

ijhar

Jb unhone ijhar kiya

Hal e dil ye tha....

Unka hr lfj katil tha....

Jo hmne khwabo me dekha

Usse bi bdkr ishq shamil...

Lokesh?

Usse bi bdkr ish

1 Months
by lokesh kumar

सारथि

हर हाल में मुस्करा कर.....

जिंदगी की कीमत अदा की है।

कभी तो रूबरू हो सारथि से....

  ' ए ज़िन्दगी '

क्या सिर्फ मुस्कुराने की खता की है।।

1 Months
by Rajneesh Bhardwaj