(success)

Zakhmi dil shayari

har bar aate the

कभी उनके नाम के पहले हर बार आते थे

पर अब आलम ये हैं कि उनके सपनो में भी नहीं आते

1 week ago
from Zakhmi dil shayari
log saboot mangte hai

log saboot mangte hai

अंदर से तो कब के मर चुके है हम,

ए मौत तू भी आजा लोग सबूत मांगते है

1 Months
from Zakhmi dil shayari

hamari kamzori thi

उन्हें चाहना हमारी कमजोरी है

उनसे कह नही पाना हमारी मजबूरी है

वो क्यूँ नही समझते हमारी खामोशी को

क्या प्यार का इज़हार करना जरूरी है

1 Months
from Zakhmi dil shayari
ज़ख़्मी दिल शायरी jhuthe sabhi fasane

jhuthe sabhi fasane

हायो रब्बा दिल जलता है झूठे सभी फसाने है प्यार बाटने वाले देखो प्यार के कितने प्यासे है

1 Months
from Zakhmi dil shayari

Jakhm dekar na pooch

ज़ख़्म दे कर ना पूछा करो 

दर्द की तुम शिद्दत, 

दर्द तो दर्द होता हैं, थोड़ा क्या और ज्यादा क्या।💔

1 Months
from Zakhmi dil shayari
zakhmi dil shayari in hindi unhe tlash hai

unhe tlash hai

जिसके याद में हम दीवाने हो गए 

वो हमसे ही बेगाने हो गए 

शायद उन्हें तलाश है नए प्यार की 

क्युकी उनके नज़र में हम पुराने हो गए !!

7 Months
from Zakhmi dil shayari
zindagi shayari halki fulki si hai ye

halki fulki si hai ye zindagi

halki fulki si hai ye zindagi bhojh to sirf khawahiso ka hai !!

8 Months
from Zakhmi dil shayari

MUJHE MARNE NAHI

किश्तों में खुदकुशी कर रही है ये जिन्दगी !

इँतज़ार तेरा मुझे पूरा मरने भी नही देता !!

9 Months
from Zakhmi dil shayari
gam bhari shayari

gam bhari shayari

कभी ग़म से दिल लगाया कभी अश्क के सहारे !

कभी शब गुजारी रो के कभी गिन के चाँद-तारे !!

9 Months
from Zakhmi dil shayari

mai hosh me aaya nahi abhi

बेहोश होकर बहुत भी जल्द तुझे होश आ गया !

मै बदनसीब होश मे होकर भी होश में आया नही अभी !!

9 Months
from Zakhmi dil shayari

jala raha hai mujhe

ये क्या सितम  है‍,क्यूं रात भर सिसकता है

वो कौन है जो "दियों" में जला रहा है मुझे

1 week 2 Days ago
from Zakhmi dil shayari
dil ka dard

dil ka dard

जब कोई ख्वाब अधुरा रह जाते हैं !

तब दिल के दर्द आंसु बनकर बाहर आते हैं

1 Months
from Zakhmi dil shayari
loading...
zakhmi dil shayari wo tera hona nahi chahta

wo tera hona nahi chahta

कितना नादान है ये दिल कैसे समझाऊ 

तू जिसे खोना नहीं चाहता हो तेरा होना नहीं चाहता 

1 Months
from Zakhmi dil shayari
zakhmi dil shayari hindi me chor do wafa ki aas

chor do wafa ki aas

छोड़ दो उसकी वफा की आस वो रुला सकता है  तो वो भुला भी सकता है 

1 Months
from Zakhmi dil shayari
zakhmi dil shayari waah re mohabbat

waah re mohabbat

वाह रे मोहब्बत बहुत जल्दी ख्याल आया मेरा 

बस भी करो चूमना अब उठने दो जनाजा मेरा !!

7 Months
from Zakhmi dil shayari

meri-Dastan-e-zindagi

ज़ुबान खामोश आंखो मे नमी होगी..!

यही "साहिल" की बस एक "दास्तान-ए-जिन्दगी" होगी..!!

भरने को तो हर ज़ख्म भर जायेंगे..!

कैसे भरेगी वो जगह,जहा तेरी कमी होगी..!!

8 Months
from Zakhmi dil shayari
zakhmi dil shayari har sakhs ne apne

har sakhs ne apne

har sakhs ne apne apne triike se istimal kiya aur hum samajhte rhe log hme psand karte hai !!

8 Months
from Zakhmi dil shayari

dard e dil shayari

मत करवाना मोहब्बत हर किसी को ए खुदा !

हर किसी में जीते जी मरने की ताक़त नही होती !!

9 Months
from Zakhmi dil shayari
zakhmi dil shayari wallpaper

zakhmi dil shayari wallpaper

उसके दिल मे थोडी सी जगह माँगी थी मुसाफिर की तरह !

उसने तो तन्हाईयो का पूरा शहर ही मेरे ऩाम कर दिया !!

9 Months
from Zakhmi dil shayari

pyar me nafrat

Pyar me nafrat kaise ki jati hai

Ye bhi tumhe har lamha batayenge,

Teri aankho me bhi khoon utar aaye

Tujhe aisa ashiqk bankar dikhayenge

10 Months
from Zakhmi dil shayari