Taqdeer shayari

dekh kar mera naseeb shayari

dekh kar mera naseeb

देख कर मेरा नशीब मेरी तकदीर रोने लगी 

लहू के अल्फाज़ देखकर तहरीर रोने लगी 

हिज्र में दीवाने की हालत कुछ ऐसी हुई 

सूरत को देखकर खुद तस्वीर रोने लगी 

 

taqdeer shayari

Taqdeer shayari

टूट कर चाहने वालो के दिल क्यों टूटते हैं ....

इश्क की राहों में ही ज्यादा कांटे क्यों मिलते हैं !

जिनके दिल मिलते हैं .....

उनके तकदीर क्यों नही मिलते हैं !!

राहों में सिर्फ पत्थर ही क्यों मिलते हैं ....

एक पल की ख़ुशी के लिए तड़प जाते वो हैं !!!

उन्हें बहाने के लिए सिर्फ आंसू मिलते हैं ....

प्यार के फूल तो उनके लिए बागों में भी नही खिलते हैं !!!!

 

Time paas

अपनी तकदीर में तो कुछ ऐसे ही सिलसिले लिखे हैं;

किसी ने वक़्त गुजारने के लिए अपना बनाया;

तो किसी ने अपना बनाकर 'वक़्त' गुजार लिया!

 

Ye taqdeer

ये तकदीर भी अजीब चीज़ है दोस्तों..

इनके दायरे में बस कमाल होता है !!

 

Zindagi tasweer hai

ज़िन्दगी तस्वीर भी है और तकदीर भी!

फर्क तो रंगों का है!

मनचाहे रंगों से बने तो तस्वीर;

और अनजाने रंगों से बने तो तकदीर!

 

Apni taqdeer

चुभता तो बहुत कुछ मुझको भी है तीर की तरह...!!!

मगर ख़ामोश रहता हूँ, अपनी तक़दीर की तरह...!!

 

Tere mere naseeb ki barish nahin

मैं तेरे नसीब की बारिश नहीं जो तुझ पर बरस जाऊँ..

तुझे तकदीर बदलनी होगी मुझे पाने के लिए….. :)

 

Tujhey pa liya

क्या गजब की तकदीर पायी है

उस इंसान ने

जिसने तुझसे मोहोब्बत भी नही की 

और तुझे पा लिया ..

 

Sda taqdeer shayari

क्या पानी पे लिखी थी मेरी तकदीर मेरे मालिक,

हर ख्वाब बह जाता है, मेरे रंग भरने से पहले ही...

 

Pyar to taqdeer me

प्यार तो तकदीर में लिखा होता है…

किसी के लिए तड़पने से कोई अपना नहीं होता है,,,