Tanhai Shayari

Tanhai Shayari and quotes in Hindi | तन्हाई शायरी | तन्हाई भरी शायरी
tanhai ki aag

tanhai ki aag

तन्हाई की आग में कहीं जल ही न जाऊँ

के अब तो कोई मेरे आशियाने को बचाले

Meri Tanhayi Ko Mera

Meri Tanhayi Ko Mera Shaunq Na Samjhna;

Bohat Pyaar Se Diya Hai Yeh Tohfa Kisi Ne!

 

tanhai shayari

Khuda juda na kare

ये ठीक है मरता नहीं कोई जुदाई में, खुदा किसी को किसी से मगर जुदा न करे। 

apne dukho pe tanhai shayari

Apne dukho pe

अपने दुखो पे रोना  अपनी खुशियों पे रोना, क्या कुछ सिखा जाता है किसी से जुदा होना।

na meri koi manzil hai

Na meri koi manzil hai

 

Na meri koi manzil hai,
Na koi kinara,
Tanhai meri mehfil aur yaadein mera sahara,
Apno se bichhad ke humne,
kuchh yun waqt gujara,
Kabhi zindagi ko tarse,
kabhi maut ko pukara...
 

tanhai mein rone ki aadat hai mujhe bhi

Tanhai mein rone ki aadat hai mujhe bhi

In behte hue aansuon se aqidat hai mujhe bhi,
Unki tarha hi khud se shikayat hai mujhe bhi,
Wo agar nazuk hain to main bhi pathar nahi,
Tanhai mein rone ki aadat hai mujhe bhi

Hua Youn ki

“हुआ है तुझसे बिछडने के बाद ये मालूम...

कि,सिर्फ तू नहीं था....तेरे साथ मेरी एक पूरी दुनिया थी...।

Lazim nahin

लाज़िम नहीं कि उसको भी मेरा ख्याल हो !
मेरा जो हाल है वही उसका भी वही हो !!

is tanhai ne tanha me

Is tanhai ne tanha me

मैं तन्हाई को तन्हाई में तनहा कैसे छोड़ दूँ !
इस तन्हाई ने तन्हाई में तनहा मेरा साथ दिए है !!

is tanhai ka

Is tanhai ka

इस तन्हाई का हम पे बड़ा एहसान है साहब !
न देती ये साथ अपना तो जाने हम किधर जाते !!